यूजीसी नेट 2021 (दिसंबर 2020) – परीक्षा शुरू होने से 15 दिन पहले एडमिट कार्ड डाउनलोड करें

यूजीसी नेट 2021 परीक्षा तिथि (स्थगित)

यूजीसी नेट 2021 के लिए परीक्षा तिथि की घोषणा अधिसूचना के साथ जारी की जाएंगी। इसलिए कैंडिडेट को आधिकारिक वेबसाइट ugcnet.nta.nic.in पर नजर रखना चाहिए।

यूजीसी नेट है क्या ?

अगर आप भी किसी भारतीय कॉलेज या विश्वविद्यालय में लेक्चरर बनने के इच्छुक हैं तो आपने यूजीसी नेट के बारे में जरूर सुना होगा! हालांकि कई छात्रों के पास इस प्रतियोगी प्रवेश परीक्षा के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं होने से परेशानी होती है। इसलिए हम यहाँ यूजीसी नेट के बारे में ज्यादा से ज्यादा और सटीक  जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं।

यूजीसी परीक्षा का आयोजन

यूजीसी नेट परीक्षा का आयोजन साल में दो बार होता है। जिसकी अधिसूचना मार्च और सितम्बर में जारी की जाती है और परीक्षा का आयोजन जून और दिसम्बर में किया जाता है।

विश्वविद्यालयों और अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों में  सहायक प्रोफेसर /जूनियर रिसर्च फेलो के लिए यूजीसी की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा का आयोजन होता है। कोरोना के कारण  2020 के जून में होने वाली परीक्षा देर से हुई।  नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने  16 सितंबर से 18 सितंबर और 21 सितंबर से 25 सितंबर तक इसका आयोजन किया था। इस देरी के कारण यूजीसी नेट दिसंबर 2020 की परीक्षा में भी देरी हुई। यूजीसी नेट दिसंबर 2020 के लिए आवेदन की प्रकिया फरवरी-मार्च 2021 में चली। जबकि परीक्षा का आयोजन 2, 3, 4, 5, 6, 7, 10, 11, 12, 14 और 17 मई 2021 को होना था। जिसे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण स्थगित कर दिया था । परीक्षा टलने की सूचना केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर दी थी।

यूजीसी नेट “भारतीय विश्वविद्यालयों और कॉलेजों दोनों में सहायक प्रोफेसर के लिए या जूनियर रिसर्च फेलोशिप के लिए न्यूनतम पात्रता है। गौरतलब है कि वर्ष 2018 तक, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने नेट परीक्षा का संचालन किया लेकिन अब, इसे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को सौंप दिया गया है। इस एजेंसी का गठन मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी), भारत सरकार द्वारा सीबीएसई का बोझ कम करने के उद्देश्य से किया गया था। एनटीए ने पहली बार दिसंबर 2018 में नेट परीक्षा आयोजित की थी।

यूजीसी नेट 2021 योग्यता मापदंड

शैक्षणिक योग्यता

  • उम्मीदवारों को पोस्ट ग्रेजुएशन में 55% अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • रिजर्व केटेगरी के उम्मीदवारों को पोस्ट ग्रेजुएशन में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • जो उम्मीदवार 19 सितंबर, 1991 से पहले पोस्ट ग्रेजुएट हो गए हैं, उन उम्मीदवारों को 5% की छूट दी जाएगी।
  • ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों को आयु और शुल्क में कुछ छूट मिलेगी
  • ओबीसी-एनसीएल / ट्रांसजेंडर / एससी / एसटी / पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों को मास्टर डिग्री या समकक्ष परीक्षा में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए।

आयु सीमा और छूट –

जूनियर रिसर्च फेलो (JRF): क्या आप 01.06.2020 को 30 वर्ष से कम आयु के हैं? यदि हाँ, तो आप परीक्षा देने के पात्र हैं।

सहायक प्रोफेसर (एपी): नेट परीक्षा 2021 में उपस्थित होने के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा निर्धारित नहीं है।

आयु में छूट –

ओबीसी (नॉन-क्रीमी लेयर) 5 वर्ष

 

एससी / एसटी / पीडब्ल्यूडी / ट्रांसजेंडर 5 वर्ष

 

महिला 5 वर्ष

 

पीएचडी (रिसर्च की अवधि तक सीमित) प्रमाण पत्र दिखाने 5 वर्ष

 

एलएलएम डिग्री धारक 3 वर्ष

 

भूतपूर्व सैनिक (सेना) 5 वर्ष

 यूजीसी नेट का पैटर्न

यूजीसी नेट 2021 का पहला पेपर 100 अंकों का होगा जिसमें कुल 50 सवाल पूछे जाएंगे। वहीं, दूसरे पेपर की परीक्षा कुल 200 अंकों के लिए आयोजित की जाएगी जिसमें 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। ध्यान रहे सभी प्रश्न बहुवैकल्पिक होंगे। नेट परीक्षा में कुल 150 सवाल पूछे जायेंगे जिसके लिए 300 अंक निर्धारित है और समय 3 घंटे है |

शिफ्ट पेपर सवालों की संख्या अंक समय
पहला 1 50 100 1 घंटा
दूसरा 2 100 200 2 घंटा
टोटल 150 350 3 घंटे

यूजीसी नेट सिलेबस 2021

यूजीसी नेट 2021 के सिलेबस को संशोधित किया गया है और कैंडिडेट इसे यूजीसी की वेबसाइट https://www.ugcnetonline.in/syllabus-new.php से डाउनलोड कर सकते हैं।

यूजीसी नेट मॉक टेस्ट 2021 –

कैंडिडेट अलग अलग विषयों के लिए मॉक टेस्ट दे सकते हैं, जो नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के आधिकारिक वेबसाइट nta.ac.in/Quiz पर उपलब्ध है।

Updated: 25/05/2021 — 23:57

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *